Type Here to Get Search Results !

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना क्या है

0

Pradhanmantri Gramin Jyoti Yojana | Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana | दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना क्या है | Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana In Hindi

आज भी बहुत से ऐसे गाँव है जहाँ बिजली का कनेक्शन उपलब्ध नही है इसी को देखते हुए प्रधानमंत्री ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत सरकार गावों तक बिजली पहुचाने का कार्य कर रही है। इस योजना को दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना नाम से चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में बिजली का कनेक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है।
आज मैं इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना से सम्बंधित सभी जानकारी देने जा रहा हूँ। आप इस आर्टिकल को पूरा पढने के बाद जान जाएंगे कि दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना क्या है, इस योजना का क्या लाभ है, इसका मुख्य उद्देश्य क्या है, कौन कौन इस योजना के लिए पात्र है तथा इस योजना में आवेदन कैसे करेंगे।


Pradhanamntri Gramin Jyoti Yojana 2021

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना को राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण योजना के जगह सुरु किया गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के उन सभी गांवों में बिजली का कनेक्शन उपलब्ध करवाना है जहाँ अभी तक बिजली नही पहुँच पायी है। इसके अंतर्गत खेती करने वाले किसानों के खेतों तक भी बिजली पहुचाने का काम किया जा रहा है और किसानों के खेतों में सिंचाई करना आसान हो इसके लिए अलग से ट्रांसफार्मर और बिजली का मीटर उपलब्ध कराया जा रहा है।
इस योजना को Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana के नाम से चलाया जा रहा है और इस योजना को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2014 में सुरु किया था और तभी से इस योजना के अंर्तगत लगातार देश के कोने कोने में बिजली पहुचाने का काम किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ग्राम ज्योति योजना का मुख्य उद्देश्य देश के ग्रामीण इलाकों में लगातार 24 घंटे बिजली मुहैया कराना है। जब इस योजना को लांच किया गया था तभी सरकार के द्वारा बोला गया था कि इस योजना के अंतर्गत 1000 दिनों में 18452 गांवो तक बिजली पहुंचा दी जाएगी।

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का बजट

प्रधानमंत्री ग्राम ज्योति योजना के लिए श्री नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने 43033 करोड़ रुपये का बजट दिया था। इस योजना के अंतर्गत आने वाले राज्यो को दो श्रेणियों में बांटा गया है पहला विशेष श्रेणी के राज्य और दूसरा अन्य सभी राज्य। विशेष श्रेणी के राज्यों को 85% तथा अन्य श्रेणी के राज्यों को 60% का अनुदान दिया जाएगा।

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत विशेष श्रेणी के राज्य

  1. सिक्किम 
  2. जम्मू-कश्मीर
  3. हिमाचल प्रदेश
  4. उत्तराखंड
  5. सभी पूर्वोत्तर राज्य

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना निगरानी समिति

इस योजना के अंतर्गत निगरानी समिति का गठन ऊर्जा सचिव की अध्यक्षता में किया गया जाता है। इस समिति का मुख्य कार्य दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत आने वाली सभी परियोजनाओं को स्वीकृति देना और लागू करना है। इस योजना का जो भी दिशानिर्देश होगा उन सभी एग्रीमेंट को विधुत मंत्रालय, राज्य सरकार और डिस्कॉम के बीच sign किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत एक नोडल एजेंसी का गठन भी किया जाएगा जोकि ग्रामीण विधुतीकरण निगम लिमिटेड होगा।

DDUJY के लाभ तथा विशेषताएं

  1. इस योजना का कुल बजट 43033 करोड़ रुपये है।
  2. इस योजना के अंतर्गत 1000 दिने में 18452 गांवो तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।
  3. इस योजना के अंतर्गत  आने वाले विशेष श्रेणी के राज्यों को 85% तथा अन्य राज्यों को 60% का अनुदान दिया जाएगा।
  4. इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक छेत्र में एक नोडल एजेंसी का गठन किया गया है।
  5. इस योजना के जरिये हर गांव हर घर तक बिजली पहुंचाना है।
  6. इस योजना के माध्यम से किसानों के खेतों तक बिजली पहुंचाने का काम किया जाएगा जिसके तहत अलग से  ट्रांसफॉर्मर और बिजली मीटर दिए जाएंगे।
मैंने आपको दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना से संबंधित लगभग सभी जानकारी को इस लेख के माध्यम से बताने की कोशिश की है। यदि इसके बाद भी आपके कोई सवाल रह जाते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं।


Post a comment

0 Comments

Top Post Ad

Below Post Ad